७५% अनुदानमा प्राङ्गरिक मल तथा जैविक मल वितरण सम्बन्धमा।